Covid-19 के दौरान डॉक्टर्स ने काफी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। केंद्र सरकार ने 1991 में राष्ट्रीय चिकित्सक दिवस मनाना शुरू किया।यह दिन डॉक्टर्स के महत्व पर प्रकाश डालता है। डॉक्टर्स के हिन्दी में वैद्य, चिकित्सक आदि नाम है। प्राचीन काल से भारत में वैद्य परंपरा रही है, जिसमें धन्वंतरि, चरक, सुश्रुत, जीवक आदि रहे हैं। धन्वंतरि को देवता के रूप में पूजा जाता है।समाज के लिए इतना महत्वपूर्ण कार्य करने वाले व्यक्ति के लिए एक दिन होना चाहिए और वह विशेष दिन होता है ‘डॉक्टर्स डे’।

डॉक्टर्स डे किसकी याद में?

भारत में डॉक्टर्स डे 1 जुलाई को महान चिकित्सक और बंगाल के दूसरे मुख्यमंत्री डॉ. विधानचंद्र रॉय के सम्मान में मनाया जाता है। उनका जन्मदिन और पुण्य तिथि एक ही दिन है। यह दिन हमारे जीवन में डॉक्टर्स के योगदान की सराहना करता है।

विधानचंद्र रॉय का जन्म 1 जुलाई, 1882 को पटना, बिहार के कोषाध्यक्ष के यहाँ हुआ था।वे अपने छात्र जीवन में काफी होशियार छात्र थे और इसी वजह से उन्होंने अन्य छात्रों की तुलना में पहले अपनी शिक्षा पूरी की। रॉय ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा भारत में और उच्च शिक्षा इंग्लैंड में पूरी की।

विधानचंद्र रॉय समाजसेवी, आंदोलनकारी और राजनेता थे। विधानचंद्र रॉय ने सियालदह में एक चिकित्सक के रूप में अपना करियर शुरू किया और वह एक सरकारी चिकित्सक भी थे। रॉय असहयोग आंदोलनों आदि में सक्रिय रूप से शामिल थे।

डॉक्टर्स डे, विधानचंद्र रॉय का जन्मदिन मनाने का सबसे बड़ा कारण यह था कि उन्होंने अपनी कमाई का सब कुछ दान कर दिया। रॉय रोल मॉडल हैं। स्वतंत्रता आंदोलन के दौरान उन्होंने निस्वार्थ भाव से घायलों और पीड़ितों की सेवा की।


महामारी में डॉक्टर्स के रूप में भगवान

जब महामारी आयी तब हम सब Covid-19 के डर से अपने-अपने घरों में अपने परिवार के साथ बैठे थे वही दूसरी तरफ डॉक्टर्स इस महामारी के बीच अपना काम कर रहे थे। वह अपने आप को खतरे मे डाल कर हमारी जान बचा रहे थे ।
महामारी की शुरुआत में, भारत में डॉक्टरों को 14 दिनों के लिए कोविड वार्ड में काम करना पड़ता था, और बाद में उन्हें अगले 14 दिनों के लिए उनके जोखिम मूल्यांकन और शीघ्र निदान के लिए छोड़ दिया गया था।
हमरे जीवन में ऐसे तो डॉक्टर्स की महत्वपूर्ण भूमिका रहीं ही है मगर कोविड के दौरान यह काफी बढ़ गयी है।

धन्यावाद

इस साल एक बार फिर उन सभी डॉक्टर्स को धन्यवाद जो अपने जीवन को खतरे में डाल कर हमे सुरक्षित रख रहे हैं। डॉक्टर्स हमारे स्वास्थ्य की ढाल और हमारे परिवार के रक्षक है।हम दिल से से सभी डॉक्टरों, चिकित्सको को उनके योगदान के लिए धन्यवाद देते हैं।